Local Job Box

Best Job And News Site

कल से, भक्त सोमनाथ महादेव की आरती का प्रत्यक्ष लाभ उठा सकेंगे और पैदल आरती देख सकेंगे। | कल से, भक्त सोमनाथ महादेव की आरती का प्रत्यक्ष लाभ उठा सकेंगे और पैदल आरती देख सकेंगे।

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

वेरावलकुछ क्षण पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें
  • आरती के समय मंदिर में प्रवेश करने वाले भक्तों पर प्रतिबंध हटा दिया गया था
  • भक्तों को आरती के दौरान खड़े नहीं होने दिया जाएगा

कोरो महामारी के कारण, भक्तों को सोमनाथ मंदिर में दिन के दौरान तीन बार होने वाली आरती में प्रवेश करने से रोक दिया गया था। सोमनाथ ट्रस्ट ने फैसला किया है कि भक्त कल, 6 फरवरी से आरती के समय मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे, लेकिन आरती में खड़े नहीं हो पाएंगे और बिना आरती के दर्शन करने का आनंद ले पाएंगे।

सोमनाथ ट्रस्ट के जीएम विजयसिंह चावड़ा ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कोरो महामारी के कारण, केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार सोमनाथ मंदिर में दर्शन की व्यवस्था और समय में बदलाव किया गया है। भक्तों को तीन बार की आरती के दौरान मंदिर में प्रवेश करने से रोक दिया गया था जब जून से मंदिर के द्वार खोल दिए गए थे। टीका आने के बाद कोरोना महामारी की घटती घटनाओं के मद्देनजर, कल 6 फरवरी, 2021 से सोमनाथ मंदिर में तीन बार की महादेव आरती के लिए भक्तों को स्वीकार करने का निर्णय बोर्ड के सुझाव पर लिया गया है। न्यासी। इस फैसले से भक्तों को सोमनाथ ट्रस्ट के साथ-साथ सोमनाथ ट्रस्ट के अंतर्गत अहिल्याबाई मंदिर, भालका मंदिर, राम मंदिर, गीता मंदिर, लक्ष्मी नारायण मंदिर, भिडिय़ा में प्रवेश करने की अनुमति मिलेगी।

6 फरवरी 2021 से, सोमनाथ मंदिर के द्वार सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक भक्तों के लिए खुले रहेंगे। सोमनाथ मंदिर में सुबह 7 बजे, दोपहर 12 बजे और शाम 7 बजे भक्त महादेव की तीन आरतियों के दौरान खड़े नहीं हो पाएंगे, लेकिन आरती को पैदल ही देख पाएंगे। वर्तमान आरती के दौरान कोई भी भक्त मंदिर के असेम्बली हॉल या डांस हॉल में खड़ा नहीं हो सकेगा।

इसके अलावा, मंदिर में आने वाले भक्तों को कोविद के दिशानिर्देश के अनुसार एक मुखौटा पहनना होगा और प्रवेश द्वार पर तापमान की जांच और हाथ की सफाई के बाद ही मंदिर में प्रवेश करना होगा। आप मंदिर में दर्शन केवल ऑनलाइन और ऑफलाइन पास प्राप्त करके ही कर सकते हैं। भक्तों को मंदिर में दर्शन के लिए की गई व्यवस्था का पालन करना होगा।

Updated: February 5, 2021 — 10:08 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme