Local Job Box

Best Job And News Site

सूरत में फॉर्म भरने के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों ने ट्रैक्टर और बैलगाड़ी की सवारी की | सूरत में उत्सुकता पैदा हुई क्योंकि कांग्रेस उम्मीदवारों ने फार्म भरने के लिए ट्रैक्टर और बैलगाड़ी की सवारी की।

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

सूरत28 मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

वार्ड नंबर 3 से कांग्रेस प्रत्याशी एक बैलगाड़ी में घर से निकला।

  • ट्रैक्टर-बैलगाड़ियों के प्रयोग से सौराष्ट्र समाज में आकर्षण पैदा हुआ
  • सामाजिक दूरी और मुखौटे को तोड़े बिना भीड़ बढ़ गई

सूरत नगर निगम चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवारों ने आज पर्चा भरने के लिए रिटर्निंग अधिकारी से संपर्क किया। उन्होंने फॉर्म भरने के लिए एक अनूठा प्रयोग किया। वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के उम्मीदवार नीलेश कुंभानी अपने कार्यकर्ता के साथ ट्रैक्टर में निकले। किसान आंदोलन ने केंद्र सरकार का प्रतीकात्मक विरोध करने के लिए किसानों द्वारा ट्रैक्टर रैलियों का सहारा लिया। इसी तरह, भारतीय जनता पार्टी के सामने एक प्रतीकात्मक विरोध में, कांग्रेस उम्मीदवार नीलेश कुंभानी अपने पैनल के अन्य उम्मीदवारों के साथ एक ट्रैक्टर में फॉर्म भरने के लिए पहुंचे। ट्रैक्टर पर उम्मीदवार और उसके कार्यकर्ताओं को देखने वाले लोगों में भी बहुत उत्सुकता थी।

वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के उम्मीदवार नीलेश कुंभानी अपने कार्यकर्ता के साथ ट्रैक्टर में निकले।

वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के उम्मीदवार नीलेश कुंभानी अपने कार्यकर्ता के साथ ट्रैक्टर में निकले।

कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों के अनूठे प्रयासों के कारण वराछा क्षेत्र में भारी चर्चा
वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के उम्मीदवार नीलेश कुंभानी ट्रैक्टर में और कांग्रेस उम्मीदवार वार्ड नंबर 3 से बैलगाड़ी में घर से निकले। वराछा क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों के रूप में किसान के प्रतीक के रूप में बहुत चर्चा हुई। इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में सौराष्ट्र के लोग रहते हैं। कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों ने एक तरह से सौराष्ट्र समाज में आकर्षण पैदा करने के लिए बैलगाड़ियों का इस्तेमाल किया और उनका दिल जीतने की कोशिश की। बैलगाड़ियों में उम्मीदवारों की तुलना में उनका सारा ध्यान आकर्षित किया गया था।

सौराष्ट्र समाज में बैलगाड़ियों का उपयोग कर आकर्षण पैदा हुआ।

सौराष्ट्र समाज में बैलगाड़ियों का उपयोग कर आकर्षण पैदा हुआ।

सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में भी किसानों के कई सवाल
किसानों का मुद्दा पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया है। कृषि कानून का कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने विरोध किया था। मोदी सरकार की नीति का विरोध करने के लिए कांग्रेस पार्टी के लिए यह सबसे मजबूत बिंदु है। सूरत में जो भी राजनीतिक माहौल बना है उसका सीधा असर सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात पर है। सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में भी किसानों के कई मुद्दे हैं और कांग्रेस द्वारा इस तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं ताकि ऐसा माहौल बनाया जा सके कि कांग्रेस खुद उन मुद्दों को आवाज देने और किसानों के लिए बोलने के लिए हमेशा आगे आए।

रैली और सामाजिक दूरी का झंडा फहराना।

रैली और सामाजिक दूरी का झंडा फहराना।

सामाजिक दूरी के नियम निर्धारित किए गए थे
फॉर्म भरने का आज आखिरी दिन है जब उम्मीदवार फॉर्म भरने के लिए पहुंच रहे हैं। जिसमें सभी पार्टी के उम्मीदवार रैली या जुलूस के रूप में चुनाव लड़ने के लिए पहुंच रहे हैं। जिसमें बड़ी संख्या में कार्यकर्ता भी शामिल हुए हैं। यही वजह है कि कोरोला की गाइडलाइन लिलियरा उड़ती हुई दिखाई देती है। बिना मुखौटे के कार्यकर्ता सामाजिक दूरी के उल्लंघन के साथ भी देखे जाते हैं।

Updated: February 6, 2021 — 7:43 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme