Local Job Box

Best Job And News Site

पुलिस प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी वेज रिकवरी घोटाले में शामिल थे, उन्हें करोड़ों का भुगतान किया गया था; NIA को मिले सबूत | पुलिस प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों ने भी वेज रिकवरी घोटाले में भाग लिया, उन्हें करोड़ों का भुगतान किया गया; एनआईए को सबूत मिले

  • गुजराती न्यूज़
  • राष्ट्रीय
  • पुलिस प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी वेज रिकवरी घोटाले में शामिल थे, वे करोड़ों का भुगतान कर रहे थे; एनआईए ने साक्ष्य पाया

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

27 मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

एंटीलिया मामले में गिरफ्तार किए गए तेंदुलकर 7 अप्रैल तक एनआईए की हिरासत में हैं।

  • NIA इन सभी दस्तावेजों को ED, CBI और आयकर विभाग को सौंप सकता है
  • वंदे ने शिंदे से 32 क्लब, बार और लॉज में रिकवरी की जिम्मेदारी भांडुप, मुलुंड को सौंप दी।

एनआईए, जो एंटीलिया और मनसुख हिरेन हत्या के मामलों की जांच कर रही है, ने बहुत सारे सबूत पाए हैं। सबूत निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वज़े के वसूली व्यवसाय से संबंधित है। एनआईए के अनुसार, कुछ वरिष्ठ पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी संग्रह व्यवसाय में शामिल हैं। वाज ने इन अधिकारियों को भुगतान किया, जिनके दस्तावेज एनआईए को मिले हैं। एनआईए ने गिरगांव के एक क्लब में छापा मारा जहां से उन्होंने दस्तावेज जब्त किए।

दस्तावेजों में कहा गया है कि किस विभाग और किस अधिकारी ने वेज़ को पैसे दिए। भुगतान की गई राशि प्रत्येक नाम के सामने लिखी गई है। इनमें से कुछ अधिकारियों को करोड़ों रुपये का भुगतान किया गया है। एनआईए के अनुसार, रिश्वत में धन प्राप्त हुआ हो सकता है। इन अधिकारियों में 2 इंस्पेक्टर, एक डिप्टी पुलिस कमिश्नर और डिप्टी कमिश्नर की स्थिति में एक पूर्व अधिकारी शामिल हैं। उनमें से तीन से पूछताछ भी की गई है।

NIA CBI और ED को सभी सबूत देने में सक्षम रही है
एनआईए इन दस्तावेजों को ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग को सौंप सकती है। सूत्रों के मुताबिक, जिस क्लब से दस्तावेज जब्त किए गए उसके मालिक को भी बुलाया गया है। वाजेई के साथ काम करने वाले कुछ अधिकारियों से भी जवाब मांगा गया है।

जांच में पता चला कि वेज़ समय-समय पर क्लब आते थे। नरेश गोरे और पूर्व कांस्टेबल विनायक शिंदे को वजेना के कहने पर यहां नौकरी दी गई। दोनों मनसुख हिरेन हत्याकांड में गिरफ्तार किए गए हैं और एनआईए की हिरासत में हैं।

शिंदे भांडुप और मुलुंड क्षेत्रों की वसूली के लिए भी जिम्मेदार थे
एनआईए को मिली ‘एक्सटॉर्शन डायरी’ और मोबाइल से पता चलता है कि वेज ने शिन्दे से 32 क्लब, बार और लॉज में अवैध रूप से पैसे वसूलने की जिम्मेदारी भांडुप, मुलुंड में सौंपी थी। प्रत्येक रिकवरी पर शिंदे का कमीशन भी तय किया गया था। वाज उन लोगों से भी वसूली करता था जिनके खिलाफ मुंबई क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज की गई है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 5, 2021 — 8:04 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme