Local Job Box

Best Job And News Site

7 राज्यों में 9 ई-कोर्ट की सफलता के बाद वित्त पोषित मेमो को भरने के लिए लोगों को अदालत जाने की जरूरत नहीं है 7 राज्यों में 9 ई-कोर्ट की सफलता के बाद वित्त पोषित वाहन मेमों को भरने के लिए लोगों को अदालत जाने की जरूरत नहीं है

  • गुजराती न्यूज़
  • राष्ट्रीय
  • मेमो को भरने के लिए लोगों को लंबे समय तक अदालत में नहीं जाना पड़ता है, 7 राज्यों में 9 ई अदालतों की सफलता के बाद 25 राज्यों को धन दिया जाता है

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

नई दिल्ली14 मिनट पहलेलेखक: पवन कुमार

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

मेमो अब ऑनलाइन भी भरा जा सकता है – फ़ाइल छवि

लोगों को अब ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के लिए मेमो जमा करने के लिए अदालत नहीं जाना पड़ेगा। घर पर मेमो जमा किया जा सकता है। इसके लिए देशभर में ट्रैफिक ई-कोर्ट शुरू किए जाएंगे। केंद्र सरकार ने रु। 1,142 करोड़ रु। ई-कोर्ट शुरू करने की समय सीमा जुलाई 2021 है।

कई राज्यों में ट्रैफिक ई-कोर्ट शुरू किए गए
छह राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में शुरू की गई नौ ई-कोर्ट की सफलता के बाद केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है। कोरो काल के दौरान देश भर की ट्रैफिक अदालतों में लंबित मामलों को सुलझाने के लिए मई 2020 में देश की राजधानी दिल्ली में पहला ई-कोर्ट शुरू किया गया था। इसके बाद हरियाणा (फरीदाबाद), तमिलनाडु (चेन्नई), कर्नाटक (बेंगलुरु), केरल (कोच्चि), महाराष्ट्र (नागपुर, पुणे) और असम (गुवाहाटी) में ट्रैफिक ई-कोर्ट शुरू किए गए। केंद्रीय कानून मंत्रालय के अनुसार, 20 जनवरी 2021 तक इन सभी ई-अदालतों में 41 लाख से अधिक मामलों का निपटारा किया गया।

इस तरह से ट्रैफिक ई-कोर्ट काम करता है
यदि किसी को यातायात नियमों के उल्लंघन के लिए ज्ञापन भरना है, तो वे 24 घंटे के भीतर कभी भी ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं। इससे रसीद भी मिलती है। उदाहरण के लिए, यदि एक चालक की गति के लिए कैमरे की मदद से एक क्षेत्र में पुलिस द्वारा एक मेमो काटा जाता है, तो हेलमेट पहने हुए नहीं, सूचना तुरंत ऑनलाइन पोर्टल में उपलब्ध होगी। तब पोर्टल टेक्सट द्वारा वाहन मालिक को वह जानकारी भेजेगा। अगर वाहन मालिक मेमो भरना चाहता है, तो वह मोबाइल में मिले लिंक से जुर्माना चुका सकता है।

ई-कोर्ट के लिए किस राज्य को कितना फंड चाहिए

राज्य फंड (रु। करोड़)
महाराष्ट्र 125.24
उतार प्रदेश 109.48 है
मध्य प्रदेश 74.05
गुजरात 72.82 है
तमिलनाडु 70.15 है
राजस्थान Rajasthan 67.8
असम 67.28
कर्नाटक 65.38
बिहार 55.82 है
पंजाब-हरि। ५४.१३
ओडिशा 46.41 है
कोलकाता 37.09 है
केरल 35.03
छत्तीसगढ 27.31
दिल्ली 26.8
झारखंड २४.२५

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 5, 2021 — 12:05 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme