Local Job Box

Best Job And News Site

अप्रैल के पहले सप्ताह में बीमा कंपनियों को दावों में अरबों रुपये खर्च करने होंगे बीमा कंपनियों को अप्रैल के पहले सप्ताह में अरबों रुपये का निपटान करना होगा

विज्ञापन द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

नई दिल्ली42 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से वृद्धि का सीधा असर बीमा कंपनियों पर पड़ रहा है। जनरल इंश्योरेंस काउंसिल (जीआईसी) के आंकड़ों के अनुसार, बीमाकर्ताओं को इस साल अप्रैल तक कोरोना वायरस से संबंधित 10.07 लाख दावे मिले हैं। इसमें से 7,907 करोड़ रुपये के 8.6 लाख दावों का निपटारा किया गया है। बीमा उद्योग के विशेषज्ञों का मानना ​​है कि निकट भविष्य में कोरोना वायरस से संबंधित बीमा दावों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है।

महामारी की दूसरी लहर में नव संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। वर्तमान में अस्पताल में भर्ती होने वाले बीमाकर्ता 2-3 सप्ताह के बाद अपना दावा प्राप्त करेंगे। ऐसे में आने वाले महीनों में स्वास्थ्य बीमा कंपनियां बीमा दावों में अरबों रुपये का सामना कर सकती हैं। मैक्स बूपा हेल्थ इंश्योरेंस के सीधे दावों, हामीदारी और उत्पाद भावातोष मिश्रा ने कहा कि दूसरी लहर की शुरुआत में कोविद के बीमा दावों की संख्या संक्रमित लोगों की संख्या से मेल नहीं खाती।

हालांकि, जिस तरह से महामारी बढ़ रही है। इसे देखकर ऐसा लगता है कि पहली लहर जैसा संकट पैदा हो सकता है। अब सवाल यह है कि हम इसे कब तक बनाए रख सकते हैं? क्योंकि अब दूसरी लहर में हम देख रहे हैं कि कोरोना संक्रमणों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

मिश्रा ने कहा कि कई मामलों में अस्पतालों में एंटीबायोटिक दवाओं की अधिकता होती है, जबकि नेटवर्क पार्टनर्स प्रीसेट टैरिफ पर कैशलेस क्लेम स्वीकार नहीं करते हैं। नतीजतन, बीमा कंपनियों को अधिक बीमा दावों का भुगतान करना होगा।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 13, 2021 — 11:12 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme