Local Job Box

Best Job And News Site

केंद्र सरकार मेडिकल ऑक्सीजन के 50 हजार मीट्रिक टन का आयात करेगी, 100 नए अस्पताल देश भर में बनेंगे; पीएम मोदी ने भी लिया स्टॉक | सरकार 100 नए अस्पतालों में स्थापित करने के लिए 50,000 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन, ऑक्सीजन संयंत्रों का आयात करेगी

  • गुजराती न्यूज़
  • राष्ट्रीय
  • केंद्र सरकार करेगी 50 हज़ार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का आयात, 100 नए अस्पताल बनेंगे देशभर में; पीएम मोदी ने भी लिया स्टॉक

विज्ञापन द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

11 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

यह तस्वीर उत्तर प्रदेश के प्रयाग राज की है। जहां कोरोना के मरीज के परिजन अस्पताल से बाहर से ऑक्सीजन सिलेंडर लाते हैं ताकि उनके मरीज को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सके।

पूरे देश में मेडिकल ऑक्सीजन का संकट बढ़ रहा है। समय पर ऑक्सीजन की कमी के कारण बड़ी संख्या में कोरोनरी हृदय रोग के रोगियों की मृत्यु हो जाती है। अब केंद्र सरकार ने भी स्थिति को सुलझाने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। केंद्र सरकार ने प्रारंभिक चरण में 50,000 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने का फैसला किया है। यह निर्णय केंद्र सरकार के अधिकार प्राप्त समूह -2 (ईजी 2) की बैठक में लिया गया। बैठक ने यह भी तय किया कि पीएम केयर फंड की मदद से देश भर में 100 नए अस्पताल शुरू किए जाएंगे, जहां ऑक्सीजन प्लांट शुरू किए जाएंगे।

इन 12 राज्यों में ऑक्सीजन संकट
गुरुवार को दिल्ली में ईजी 2 की बैठक में राज्यों में स्थिति पर चर्चा की गई जिसमें कोरोना मामलों की संख्या सबसे अधिक थी। इनमें महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान शामिल हैं। महाराष्ट्र में चिकित्सा ऑक्सीजन की मांग राज्य में कुल ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता से अधिक है।

ये बड़े फैसले हुए

  • कोरोना के सबसे अधिक प्रभावित देशों के 12 राज्यों में चिकित्सा ऑक्सीजन की उपलब्धता की जाँच की जानी चाहिए।
  • प्रेशरस्विंग एडाप्टेशन (PSA) वाले 100 अस्पतालों की पहचान करें। अस्पताल जो अपना ऑक्सीजन बनाने में सफल हैं। जो मेडिकल ऑक्सीजन के राष्ट्रीय ग्रिड पर भार को कम करता है। पीएम-केयर फंड ने 162 ऐसे पीएसए प्लांट बनाने के लिए फंड की घोषणा की है।
  • 100 अस्पतालों की पहचान की जा रही है जो अपने दम पर ऐसे संयंत्र स्थापित कर सकते हैं। ताकि देश में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी न हो।

पीएम मोदी ने ऑक्सीजन संकट की जांच की
प्रधानमंत्री मोदी ने ऑक्सीजन संकट के मद्देनजर देश भर के अस्पतालों में अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें उन्होंने अधिकारियों को चिकित्सा ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता और अन्य चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता के बारे में निर्देश दिए।

सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ ने बिडेन से मदद मांगी
देश की सबसे बड़ी फार्मा कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पुनावाला ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन से मदद मांगी थी। “अगर हम कोरोना के बारे में वास्तव में गंभीर हैं, तो कच्चे माल पर प्रतिबंध हटा दें,” उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखा। “माननीय अध्यक्ष, अगर हम संयुक्त राज्य अमेरिका के बाहर वैक्सीन उद्योग के आधार पर, वायरस को हराने में एकजुट हैं, तो मैं आपसे संयुक्त राज्य के बाहर कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध हटाने का आग्रह करता हूं,” पूनावाला ने लिखा। ताकि टीकों का उत्पादन बढ़ सके। आपके प्रशासन के पास विस्तृत जानकारी है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 16, 2021 — 11:33 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme