Local Job Box

Best Job And News Site

हेलमेट नहीं पहनना मौत का कारण है लेकिन दुर्घटना नहीं: हाईकोर्ट | हेलमेट नहीं पहनना मौत की वजह है लेकिन दुर्घटना नहीं: हाईकोर्ट

विज्ञापन द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

कोच्चि15 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • मुआवजे को कम करने के ट्रिब्यूनल के आदेश को खारिज कर दिया गया था

केरल उच्च न्यायालय ने दुर्घटना मुआवजा मामले में न्यायाधिकरण के फैसले को अलग रखा है जिसने हेलमेट नहीं पहनने पर मुआवजे की राशि कम कर दी है। दरअसल हादसे में बाइक पर पीछे बैठे व्यक्ति की मौत हो गई। ट्रिब्यूनल ने हेलमेट नहीं पहनने के लिए लापरवाही के मुआवजे को कम कर दिया। मृतक के रिश्तेदारों ने फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी।

हाईकोर्ट ने कहा कि दुर्घटना में पीछे बैठे व्यक्ति ने हेलमेट पहनकर कानून का उल्लंघन किया था लेकिन यह नहीं माना जा सकता था कि वह लापरवाही कर रहा था। एक दुर्घटना में लापरवाही प्रत्येक मामले में तथ्यों और परिस्थितियों के आधार पर तय की जाएगी। अदालत ने कहा कि अगर हेलमेट पहना होता तो उसकी जान बचाई जा सकती थी। चोट इतनी गंभीर नहीं थी कि जान चली गई लेकिन हेलमेट नहीं पहनने को बाइक से टकराने का कारण नहीं माना जा सकता था।

अदालत ने कहा कि बिना हेलमेट पहने गाड़ी चलाने के लाइसेंस को नहीं समझने का उसका आदेश है। मामला 8 अगस्त 2007 का है। मोहम्मद कुट्टी वैद्यकरन अपनी बाइक चला रहे थे। उनका बेटा बाइक चला रहा था। आगे आने वाले वाहन ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में दोनों घायल हो गए। फिर वैद्यकरन की मृत्यु हो गई।

मृतक के परिजनों के लिए 33,03,700 रुपये का मुआवजा पारित किया गया था, लेकिन ट्रिब्यूनल ने वैद्यकरन के हेलमेट नहीं पहनने के कारण मुआवजे की राशि में 20 प्रतिशत की कमी कर दी।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 17, 2021 — 10:44 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme