Local Job Box

Best Job And News Site

कोरोना महामारी के कारण जम्मू-कश्मीर निवेश शिखर सम्मेलन नहीं हो सका, 23,000 करोड़ रुपये के निवेश के लिए तैयार 400 कंपनियां | कोरोना महामारी, 23,000 करोड़ रुपये के निवेश के लिए तैयार 400 कंपनियों के कारण जम्मू और कश्मीर निवेश शिखर सम्मेलन आयोजित नहीं किया जा सका

  • गुजराती न्यूज़
  • राष्ट्रीय
  • जम्मू और कश्मीर निवेश शिखर सम्मेलन कोरोना महामारी के कारण नहीं हो सकता है, 400 कंपनियां 23,000 करोड़ रुपये का निवेश करने के लिए तैयार हैं

विज्ञापन द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

श्रीनगर22 मिनट पहलेलेखक: मुदस्सिर कुल्लू

  • प्रतिरूप जोड़ना

फ़ाइल छवि

  • जम्मू और कश्मीर में व्यापार के लिए अच्छी खबर है, सरकार ने 18 क्षेत्रों में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं
  • कई क्षेत्रों ने रुचि दिखाई, जिनमें शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और आईटी शामिल हैं

कोरो युग के दौरान जम्मू और कश्मीर से अच्छी खबर आई है। यहां निवेश बढ़ रहा है। राज्य सरकार ने पिछले साल से 400 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों के साथ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए हैं। ये कंपनियां राज्य में 18 क्षेत्रों में 23,000 करोड़ रुपये का निवेश करने की तैयारी में हैं।

ये कंपनियां शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, पर्यटन, आईटी, हस्तशिल्प, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों, फार्मा, कौशल विकास, डेयरी-पोल्ट्री-ऊन, बुनियादी ढांचे, औषधीय पौधों, फिल्म और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश करने में रुचि रखती हैं। अगर ये कंपनियां राज्यों में इकाइयां स्थापित करती हैं, तो यह युवाओं के लिए रोजगार का मार्ग प्रशस्त करेगी। कुछ कंपनियों ने काम शुरू भी कर दिया है लेकिन ज्यादातर को कोरोना की स्थिति में सुधार का इंतजार है। राज्य सरकार का लक्ष्य अगले 15 वर्षों में राज्य में 1 लाख करोड़ रुपये का निवेश करना है।

यहां निवेश करने की इच्छुक बड़ी कंपनियों में अटमिया फील्डकॉन और एचपी कैपिटल हैं। Atmiya Fieldcon 650 करोड़ रुपये के निवेश के साथ यहां स्वास्थ्य सुविधा स्थापित करना चाहता है। आरके एसोसिएट्स 500 करोड़ रुपये के निवेश से यहां एक होटल बनाना चाहता है। हालांकि, नेशनल एग्रीकल्चर कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया 1,700 करोड़ रुपये के निवेश से यहां गहन वृक्षारोपण और कोल्ड स्टोरेज क्लस्टर विकसित करेगा। फ्लिपकार्ट ने स्थानीय कारीगरों के कौशल के विपणन में रुचि दिखाई है।

अबू धाबी स्थित कंपनी लुलु यहां फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाना चाहती है। इच्छुक कंपनियों में रिलायंस अम्मुनिशन लिमिटेड, जैक्सन ग्रुप, इंडो-अमेरिकन सिनर्जी, कृष्णा हाइड्रो प्रोजेक्ट्स, यूनिवर्सल सक्सेस एंटरप्राइज, सर्वोटेल और श्री सीमेंट शामिल हैं। राज्य सरकार ने पिछले साल जेएंडके ग्लोबल इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया था। हालांकि कोरोना के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था।

शिक्षा में निवेश राज्य के बच्चों को विदेश जाने के लिए मजबूर नहीं करेगा
कई कंपनियों ने शिक्षा के क्षेत्र में भी रुचि दिखाई है। राज्य के हजारों बच्चे विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए रूस, तुर्की, बांग्लादेश, ब्रिटेन और देश के अन्य शहरों में संस्थानों में जाते हैं। अगर ये कंपनियां राज्य में शैक्षणिक संस्थान शुरू करती हैं, तो यहां के बच्चों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश करने से राज्य के लोगों को इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़ता है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 18, 2021 — 10:59 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme