Local Job Box

Best Job And News Site

पर्यावरण में कार्बन डाइऑक्साइड 300 वर्षों की तुलना में 50% की वृद्धि हुई, इसके अनुपात में 25% की वृद्धि के लिए 200 वर्ष लगे 300 वर्षों की तुलना में पर्यावरण में कार्बन डाइऑक्साइड 50% की वृद्धि हुई, इसके अनुपात में 25% की वृद्धि में 200 साल लगे

विज्ञापन द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

लंडन32 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • एक अध्ययन में, अमेरिका और ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने CO2 डेटा का विश्लेषण किया
  • वायुमंडल में CO2 का स्तर 18 वीं शताब्दी के स्तर से डेढ़ गुना बढ़ जाएगा

हमारे वातावरण में कार्बन-डाइऑक्साइड (CO2) गैस का उत्सर्जन लगातार बढ़ रहा है। वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि 2021 अब तक का सबसे गर्म वर्ष हो सकता है। एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि 18 वीं सदी में औद्योगिक क्रांति से पहले मानव निर्मित कार्बन उत्सर्जन की तुलना में इस वर्ष के अंत तक CO2 का स्तर 50% अधिक होगा (लगभग 300 साल पहले), जिसका अर्थ है कि CO2 का स्तर एक और एक होगा 18 वीं शताब्दी की तुलना में आधा गुना अधिक है।

एक हालिया अध्ययन में, संयुक्त राज्य अमेरिका और ब्रिटेन के शोधकर्ताओं ने हवाई और ठंडे क्षेत्रों से CO2 डेटा का विश्लेषण किया। इसमें पाया गया कि 1750-1800 में औसत सीओ 2 का स्तर 278 मिलियन प्रति मिलियन (पीपीएम) था। जब हमारे वायुमंडल में CO2 का स्तर मार्च 2021 में 417.14 पीपीएम तक पहुंच गया। विशेषज्ञों का अनुमान है कि मई तक कार्बन उत्सर्जन में वृद्धि जारी रहेगी। वहीं, 2021 में इसका औसत 419.5 पीपीएम तक पहुंच जाएगा।

मानव उल्कापिंड पृथ्वी की तरह नाटकीय परिवर्तन
विश्लेषण से पता चलता है कि 1760 के आसपास शुरू हुआ कार्बन-डाइऑक्साइड मार्च 2021 तक नए स्तर पर पहुंच गया है। साइमन लुईस, लंदन विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर, ने कहा कि वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा में 25% की वृद्धि के लिए 200 साल लग गए, जबकि औद्योगिक क्रांति के पिछले स्तर से यह केवल 30 वर्षों में 50% से अधिक तक पहुंच गया। । यह नाटकीय परिवर्तन मानव उल्कापिंड पृथ्वी की तरह है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 19, 2021 — 9:39 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme