Local Job Box

Best Job And News Site

कोरोना महामारी में भारत की मदद के लिए दुनिया आगे आई, पता करें कि कौन सा देश क्या भेज रहा है? | कोरोना महामारी में भारत की मदद के लिए दुनिया आगे आई है, पता करें कि कौन सा देश क्या भेज रहा है?

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

21 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

कोरोनरी सुनामी ने भारत में तबाही मचाई है। गुजरात सहित देश भर के अस्पताल अत्यधिक भीड़भाड़ वाले हैं और ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीज मर रहे हैं। संकट की इस घड़ी में दुनिया के कई देश मदद के लिए आगे आए हैं। इसके अलावा, दुनिया भर के गैर-सरकारी संगठन भी इसमें तेजी ला रहे हैं। संबद्ध अमेरिका भारत को वैक्सीन के लिए कच्चे माल की आपूर्ति करेगा। यह चिकित्सा उपकरणों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोरोना से लड़ने में भी मदद करेगा। ब्रिटेन ने 495 ऑक्सीजन सांद्रता और 140 वेंटिलेटर भेजे हैं। जबकि फ्रांस भारत में 8 ऑक्सीजन जनरेटर भेजेगा। यह एक जनरेटर लगातार 15 वर्षों तक 250 बिस्तर के अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति कर सकता है। इसके अलावा, पहले बैच में ऑक्सीजन के 5 कंटेनर, 28 वेंटिलेटर और 200 इलेक्ट्रिक सीरिंज के पंप होंगे। इसके अलावा, ऑस्ट्रेलिया 500 वेंटिलेटर, 10 लाख सर्जिकल मास्क, 5 लाख पी 2 और एन 95 मास्क, 1 लाख चश्मे, 1 लाख जोड़े हैंड ग्लव्स और 20,000 फेस शील्ड भेजेगा। इसलिए सऊदी अरब से 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भी भारत में आ रही है। यह काम अडानी ग्रुप और लिंडे कंपनी के सहयोग से किया जा रहा है। जर्मनी ने भारत के लिए तत्काल राहत मिशन भी शुरू किया है। चांसलर अंगेला मैर्केल ने कहा है कि वह इन कठिन समय में भारत के साथ हैं। 27 देशों के शक्तिशाली समूह यूरोपीय संघ ने भी ऑक्सीजन और चिकित्सा प्रदान करने का संकल्प लिया है। जिसके तहत आयरलैंड 700 ऑक्सीजन सांद्रता, 1 ऑक्सीजन जनरेटर और 365 वेंटिलेटर भेजेगा। जबकि बेल्जियम रामदासवीर की 9000 खुराक भेज रहा है। इसलिए रोमानिया 80 ऑक्सीजन सांद्रता और 75 ऑक्सीजन सिलेंडर भी भेजेगा। जबकि लक्समबर्ग ने 58 वेंटिलेटर प्रदान करने की बात की है। संकट के इस समय में, पुर्तगाल में प्रति सप्ताह 5503 शीशियों के अवशेष और 20,000 लीटर ऑक्सीजन भेजा जाएगा। खोबा ने स्वीडन को 120 वेंटिलेटर भेजने की भी घोषणा की है। सिंगापुर ने भारत को चार क्रायोजेनिक ऑक्सीजन कंटेनर भेजे हैं। जिसमें ऑक्सीजन को एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जाएगा। भारत के पड़ोसी भूता ने भी एक नया ऑक्सीजन संयंत्र शुरू करके भारत को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने का वादा किया है। इस संबंध में, भारत के दुश्मन देश पाकिस्तान ने भी भारत को वेंटिलेटर और राहत सामग्री उपलब्ध कराने की बात की है। जबकि चीन ने भी सहानुभूति व्यक्त की है और यथासंभव मदद करने की बात कही है। ब्रसेल्स जैसा देश भी दवा और ऑक्सीजन देने की बात करके भारत की तरफ है। इसके अलावा, दुनिया भर के कई संगठन भी भारत की मदद कर रहे हैं। सेवा इंटरनेशनल यूएसए ने भारत के लिए 50 5 मिलियन जुटाने का लक्ष्य रखा है। संगठन भारत को 400 ऑक्सीजन सांद्रता की आपूर्ति भी करेगा। वहीं, हेल्प इंडिया डेफिएट कोरोना ने भारतीय अस्पतालों में ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए एक अभियान शुरू किया है। यह संगठन देश में 10 हजार परिवारों और 1 हजार अनाथों को भोजन और दवा प्रदान करता है। तो अमेरिकी व्यापार समूह, यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम ने भारत के लिए 1 लाख ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का आदेश दिया है। यही नहीं, पाकिस्तान के इधी फाउंडेशन ने भारत को 50 एम्बुलेंस उपलब्ध कराने की भी बात की है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: April 28, 2021 — 1:59 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme