Local Job Box

Best Job And News Site

पिच के कारण न्यूजीलैंड को फायदा, हमारे 5 से कम बल्लेबाज़ों का औसत इसके तेज़ गेंदबाज़ों के मुकाबले | पिच के कारण न्यूजीलैंड को फायदा होता है, हमारे 5 में से 50 से भी कम औसत बल्लेबाज उसके तेज गेंदबाजों के खिलाफ होते हैं

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

मुंबई28 मिनट पहलेलेखक: चंद्रेश नारायणन

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • इंग्लैंड दौरे के लिए शुक्रवार को चुने गए टीम में कोई और अधिक आश्चर्यजनक नाम नहीं हैं

1996 के इंग्लैंड दौरे के लिए जब भारतीय टीम का चयन किया गया, तो गुंडप्पा विश्वनाथ की चयन समिति ने सभी को चौंका दिया। दौरे के पहले हाफ के लिए, टीम ने चार स्पिनरों और तीन तेज गेंदबाजों का चयन किया, जिसमें एक स्पिनर सुनील जोशी शामिल थे। अब 25 साल बाद जोशी भी चयनकर्ता हैं। टीम में चार स्पिनर हैं, लेकिन स्टैंडबाय में छह तेज गेंदबाज और तीन तेज गेंदबाज भी हैं। शुक्रवार को चुनी गई टीम में आश्चर्यजनक नाम शामिल नहीं थे।

खिलाड़ियों का चयन प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है। अगर सभी खिलाड़ी फॉर्म में रहेंगे तो कई रकम के बाद टीम पूरी ताकत के साथ मैदान पर आएगी। पृथ्वी शॉ, भुवनेश्वर और हार्दिक पांड्या को नहीं चुने जाने की कुछ आलोचना हुई है। शो फॉर्म में है, लेकिन उसे अपनी फिटनेस और फील्डिंग पर काम करने की जरूरत है। भुवी लगातार चोटिल है। हार्दिक का हरफनमौला प्रदर्शन भारत के लिए उम्मीद की किरण था। कुलदीप को अक्षर की टीम से बाहर कर दिया गया है।

शुभमन गिल का बल्ला हाल के दिनों में शांत रहा है, लेकिन उनके पिछले प्रदर्शन के आधार पर उन्हें टीम में जगह मिली है। मध्य क्रम के लिए कोई बैक-अप नहीं चुना गया। गिल और के.एल. राहुल मध्यक्रम में बल्लेबाजी कर सकते हैं। हालांकि नियमित बल्लेबाज होना जरूरी था। 2011, 2014 और 2018 में इंग्लैंड का दौरा भारत के लिए बुरे सपने जैसा था। टीम ने 2007 में वहां श्रृंखला जीती। उस टीम से केवल इशांत फिलहाल इंग्लैंड जा रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला से पहले, भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेलेगी।

न्यूजीलैंड फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट भी खेलेगा
न्यूजीलैंड की टीम टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेलेगी। ताकि उसे स्थिति में ढलने का मौका मिले। इंग्लैंड की पिचें कुछ हद तक न्यूजीलैंड के समान हैं, जिसमें तेज गेंदबाजों को तेजी और स्विंग मिलती है। भारत पिछली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज 2-0 से हार गया था। उनके पास बोल्ट, सऊदी, वैगनर और जेमिसन जैसे शीर्ष तेज गेंदबाज हैं। उनकी टीम में इंग्लैंड के हालात के अनुसार एक तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर भी है। गुजरात के तेज गेंदबाज अर्जन नागवासवाला को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के खिलाफ तैयारी करने के लिए भारतीय टीम के स्टैंड-बाय खिलाड़ी में जगह मिली है।

अन्य खबरें भी है …
Updated: May 8, 2021 — 10:58 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme