Local Job Box

Best Job And News Site

साउथेम्प्टन में इस सीजन के 3 मैचों में दो बार टीमें 80 से कम पर ऑल आउट हो चुकी हैं। | साउथेम्प्टन में टीमें इस काउंटी सत्र में 3 मैचों में दो बार 80 से कम पर आउट हो चुकी हैं।

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

साउथेम्प्टन12 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया का सामना 18 से 22 जून तक न्यूजीलैंड से होना है। यह मैच इंग्लैंड के साउथेम्प्टन में द एजिस बाउल में खेला जाएगा। यह मैदान भारत के लिए अच्छा साबित नहीं हुआ है। इसके अलावा इस सीजन में जिस तरह से काउंटी का सामना किया जा रहा है वह टीम इंडिया के लिए खतरे की घंटी है।

पहले मैच में मिडलसेक्स 79 रन पर ऑल आउट हो गई
एजिस बाउल में काउंटी सीज़न (15-18 अप्रैल) के पहले मैच में मिडलसेक्स सिर्फ 79 रन पर ऑल आउट हो गया था। मेजबान हैम्पशायर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 319 रन बनाए। जवाब में मिडलसेक्स की टीम पानी में बैठ गई। हैम्पशायर की ओर से खेलते हुए पाकिस्तान के स्विंग गेंदबाज मोहम्मद अब्बास ने 6 विकेट लिए. इसके बाद हैम्पशायर ने अपनी दूसरी पारी 290/4 घोषित की। मिडलसेक्स 281 रन पर और मेजबान टीम 249 रन पर ऑल आउट हो गई।

तीसरे मैच में मेजबान टीम 79 रन पर ऑल आउट हो गई
ऐसा नहीं है कि विरोधी टीम इस मैदान पर मुश्किल में है। समरसेट के खिलाफ तीसरे मैच में हैम्पशायर 79 रन पर ऑल आउट हो गया। मीडियम पेसर स्विंग गेंदबाजों ने पारी का दबदबा बनाया। लुईस ग्रेगरी ने 26 रन देकर 4 विकेट लिए। क्रेग एवर्टन और जोश डेवी ने भी 2-2 से शिकार किया। ये दोनों मीडियम पेसर भी हैं।

न्यूजीलैंड के पास शक्तिशाली स्विंग गेंदबाज
न्यूजीलैंड की टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत है। ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी, काइल जैमीसन और नील वैगनर भी तेज गेंदबाजी से स्विंग कराने में माहिर हैं। पिच और हालात से मदद मिली तो भारत मुश्किल में पड़ जाएगा।

जेम्स ने भारत के खिलाफ पिछली सीरीज के 2 मैचों में 9 विकेट लिए थे।

जेम्स ने भारत के खिलाफ पिछली सीरीज के 2 मैचों में 9 विकेट लिए थे।

भारत की पेस बैटरी भी बहुत बड़ी
ऐसा नहीं है कि भारत का तेज गेंदबाजी आक्रमण कमजोर है। टीम में इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज के रूप में विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं। हालांकि, न्यूजीलैंड के बल्लेबाज स्विंग और सीमिंग परिस्थितियों में खेलने के अधिक आदी हैं। कीवीज के आखिरी दौरे पर भारत 0-2 से हार गया
करना पड़ा।

पिच न्यूट्रल होगी, गेंदबाजी लाइनअप मौसम पर निर्भर करेगा
भारत के लिए यह अच्छी बात है कि आईसीसी फाइनल का आयोजक है। आईसीसी ऐसी पिच नहीं बनाएगी जिससे किसी एक टीम को मदद मिले। मौसम खराब रहने पर स्विंग गेंदबाजों को मदद मिलेगी। हालांकि फाइनल जून के तीसरे हफ्ते में है। तब इंग्लैंड में गर्मी बढ़ती है और गेंद कम स्विंग करती है। लेकिन इंग्लैंड में मौसम कभी तय नहीं होता।

अन्य खबरें भी है …
Updated: May 12, 2021 — 5:46 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme