Local Job Box

Best Job And News Site

wo-क्रिकेट-टीम-पर-एक-समय-अन्य-राष्ट्र-अपना सकते हैं-भारतीय-रणनीति-में-भविष्य | भारत जैसे अन्य देश अपना सकते हैं इस मॉडल को, विशेषज्ञों का कहना- ऐसा करने में लगता है समय time

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

18 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

टीम इंडिया वनडे और टी20 सीरीज खेलने के लिए जुलाई में श्रीलंका का दौरा करेगी। हालांकि, भारत की 20 सदस्यीय टीम भी उस समय इंग्लैंड में होगी, जो अगस्त-सितंबर में मेजबान टीम के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलेगी। यानी दो भारतीय टीमें अलग-अलग सीरीज के लिए एक ही समय में अलग-अलग देशों में होंगी।

माना जा रहा है कि आने वाले समय में और भी कई देश इस मॉडल को अपना सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा करना समय की बात है। आइए यह पता लगाने की कोशिश करें कि क्या यह नियमित रूप से संभव है। क्या अतीत में एक समय में एक देश से दो टीमें हुई हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि अब ऐसा करना क्यों जरूरी है?

एक टीम 1998 में पाकिस्तान के खिलाफ और दूसरी कॉमनवेल्थ गेम्स में खेल रही थी
भारत ने अतीत में एक ही समय में दो अलग-अलग टीमें बनाई हैं। यह 1998 में हुआ था। उस समय एक भारतीय टीम कनाडा में पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज खेल रही थी। वहीं, अजय जडेजा की अगुवाई वाली एक और टीम मलेशिया में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले रही थी.
पाकिस्तान ने भी दो अलग-अलग टीमें बनाईं।

ऑस्ट्रेलिया के मन में भी इस साल दो अलग-अलग टीमें बनाने का विचार आया।

ऑस्ट्रेलिया के मन में भी इस साल दो अलग-अलग टीमें बनाने का विचार आया।

ऑस्ट्रेलिया भी इस साल दो टीमें बनाने की तैयारी कर रहा था
ऑस्ट्रेलिया भी इसी साल फरवरी-मार्च में दो टीमें बनाने की तैयारी कर रहा था। एक टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ सीमित ओवरों के मैचों की सीरीज खेल रही थी। वहीं दूसरी टीम टेस्ट सीरीज के लिए साउथ अफ्रीका जा रही थी। हालांकि उस समय दक्षिण अफ्रीका में कोरोना महामारी फैलने के कारण यह दौरा रद्द कर दिया गया था।

जेम्स सदरलैंड ने 2010 में सुझाव दिया था
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड के पूर्व सीईओ जेम्स सदरलैंड ने भी 2010 में एक देश से दो अलग-अलग टीमों का गठन करने का सुझाव दिया था। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में क्रिकेट लीगों की संख्या के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए समय कम है। ऐसे में सभी दौरों को पूरा करने के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया जाए। उन्होंने कहा कि इससे खिलाड़ी किसी एक प्रारूप में विशेषज्ञ बन सकते हैं।

रमीज राजा का मानना ​​है कि हर देश दो टीमें नहीं बना सकता।

रमीज राजा का मानना ​​है कि हर देश दो टीमें नहीं बना सकता।

सभी देश दो टीमें नहीं बना पा रहे हैं: रमीज राजा
पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रमीज राजा इस मॉडल से सहमत नहीं दिख रहे हैं। रमीज ने कहा कि कुछ देशों में वर्तमान में एक समय में दो टीमों के निर्माण के लिए एक प्रतिभा पूल है। कई देश ऐसा नहीं कर सकते। न्यूजीलैंड की आबादी 6 मिलियन से भी कम है। उसके लिए लगातार दो टीमें बनाना संभव नहीं होगा। इसी तरह कई अन्य छोटे देश भी संकट में पड़ सकते हैं।

फ्रेंचाइजी क्रिकेट के बढ़ते दौर में जरूरी कदम
फ़ुटबॉल और बास्केटबॉल सहित कई खेलों में फ़्रैंचाइज़ी-आधारित लीग लंबे समय से हैं, लेकिन क्रिकेट में स्थिति काफी अलग है। एक साथ तीन अलग-अलग स्वरूपों में
खेला जाता है। आने वाले समय में आईपीएल में टीमों की संख्या बढ़ेगी। यह भी माना जा रहा है कि कुछ साल बाद आईपीएल में एक से ज्यादा टायर आ सकते हैं। ऐसे में लीग में अधिक समय लगेगा, लेकिन इसके लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को रोका नहीं जा सकता।

अन्य खबरें भी है …
Updated: May 12, 2021 — 7:20 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme