Local Job Box

Best Job And News Site

तारक मेहता का उल्टा चश्मा फेम अतुल विरकर I सोल्ड न्यूजपेपर्स, अगरबत्ती, पापड़ फॉर सर्वाइवल | ‘तारक मेहता’ फेम अभिनेता अतुल विरकर आर्थिक तंगी में बेचते हैं अगरबत्ती-पापड़, दुर्लभ बीमारी से जूझ रहा है बेटा

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

मुंबई30 मिनट पहले minutes

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • हाल ही में अतुल वीरकर ने अपने मुश्किल दिनों के बारे में बात की
  • बेटे को AHDS . नाम की दुर्लभ बीमारी है

लोकप्रिय कॉमेडी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ सहित कई हिंदी-मराठी फिल्मों में अभिनय कर चुके अतुल वीरकर इस समय आर्थिक तंगी में जी रहे हैं। समय का चक्र ऐसा चलता रहा कि इस कलाकार को आर्थिक तंगी के कारण अखबार, अगरबत्ती और पापड़ बेचकर अपना जीवन यापन करना पड़ा।

बेटे को दुर्लभ बीमारी
टीवी इंडस्ट्री के कई कलाकार पिछले साल से कोरोना की वजह से आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। यही कारण है कि कई कलाकारों को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ा, उनमें से एक अतुल वीरकर हैं। एक तरफ काम रुकने के कारण अतुल को नौकरी नहीं मिली और दूसरी तरफ उनके बेटे को एएचडीएस (एलन-हेरंडन-डडले सिंड्रोम) नाम की एक दुर्लभ बीमारी है। इस बीमारी में बच्चा सामान्य बच्चे की तरह कोई भी गतिविधि नहीं कर सकता है। बच्चा बिस्तर पर रहता है।

लॉकडाउन प्रभावी हो गया
अतुल वीरकर ने टाइम्स को बताया कि वह भी लॉकडाउन से प्रभावित हुए हैं। यह बच्चे की जिम्मेदारी है। वह इस समय एक दुर्लभ बीमारी से जूझ रहे हैं। उसका बेटा एक सामान्य बच्चे की तरह अपने आप खड़ा नहीं हो सकता। वह हमेशा बिस्तर पर ही रहता है। उसे दुर्लभतम से दुर्लभ रोग हैं। वे न केवल इलाज कराने की कोशिश करते हैं बल्कि भारत में इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है। कुछ डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि इस बीमारी की दवा नीदरलैंड में उपलब्ध है। वह बहुत मेहनत करता है और अपनी सीमा से परे काम करता है। वह फिलहाल अपने बेटे के लिए फंड जुटा रहे हैं और जल्द से जल्द इलाज शुरू करना चाहते हैं।

उद्योग में लंबा समय
अतुल ने आगे कहा कि वह लंबे समय से इंडस्ट्री में हैं। उन्होंने ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’, ‘चिड़िया घर’ सहित हिंदी-मराठी टीवी सीरियल्स में काम किया है। अब बहुत सारे अभिनेता उनकी आर्थिक मदद कर रहे हैं और वह इससे बहुत खुश हैं। हालांकि उन्होंने कभी किसी से उम्मीद नहीं की थी लेकिन अब वह चाहते हैं कि हर कोई उनका साथ दे। वह अपने बेटे के लिए कड़ी मेहनत करने को तैयार है। वह अपने बेटे प्रियांश को जल्द से जल्द ठीक होते देखना चाहते हैं।

दुनियाभर में करीब 400 मरीज इस बीमारी से जूझ रहे हैं
अतुल ने आगे कहा कि ज्यादातर टीवी शो और फिल्मों की शूटिंग इस समय मुंबई के बाहर विभिन्न स्थानों पर हो रही है। मौजूदा हालात में यह बाहर नहीं जा सकता। प्रियांश को एएचडीएस है और वह दुनिया के 400 मरीजों में से 320वें स्थान पर है। डॉक्टरों ने उन्हें कोरोना के चलते बाहर जाने से मना कर दिया है, ताकि प्रियांश को संक्रमण का अहसास न हो। उसे दो साल की होने तक सावधान रहना होगा। उसके लिए दूसरे राज्य में जाकर काम करना बहुत मुश्किल है। उसे लगता है कि उसके बेटे को अभी उसकी जरूरत है। इसके बाद भी काम जारी रहेगा।

अतुल पंडित भी हैं
अगर अतुल वीरकर के करियर की बात करें तो वह न केवल एक अभिनेता हैं, बल्कि एक उद्योग पंडित भी हैं। उन्होंने कहा कि वह जीवन की शुरुआत से संघर्ष करते हैं। जब वह किशोरी थी तब उसके पिता की मृत्यु हो गई। वह मानगांव में रहता था। वहां से वह शूटिंग के लिए मुंबई आते थे। वह भी पंडित हैं। इंडस्ट्री में लोग उन्हें पंडित के नाम से भी जानते हैं। उन्होंने कई फिल्म क्षणों में अभिनय किया है। ऑन-ऑफ स्क्रीन पूजा भी की जाती है। उनके जीवन में एक समय ऐसा भी आया जब उन्होंने अखबार, अगरबत्ती और पापड़ भी बेचे। यह समय उनके और उनके परिवार के लिए बहुत कठिन था।

अन्य खबरें भी है …
Updated: May 13, 2021 — 1:26 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme