Local Job Box

Best Job And News Site

मर्डर डायलॉग राइटर की कार्डियक अरेस्ट से मौत, कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आई थी | मर्डर डायलॉग राइटर की कार्डियक अरेस्ट से मौत, छह दिन पहले कोरोना की रिपोर्ट आई थी निगेटिव

विज्ञापनों से परेशान हैं? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

मुंबईएक घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • 49 वर्षीय सुबोध को हाल ही में कोरोना हुआ था
  • सोमवार 10 मई को सुबोध की तबीयत बिगड़ गई।

इमरान हाशमी स्टारर ‘मर्डर’ और इरफान खान स्टारर ‘रोग’ जैसी फिल्मों के डायलॉग राइटर सुबोध चोपड़ा का निधन हो गया है। उन्होंने शुक्रवार 14 मई को सुबह 11.30 बजे अंतिम सांस ली। 49 वर्षीय सुबोध को हाल ही में कोरोना हुआ था। छह दिन पहले ही उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। हालांकि, बाद में जटिलताओं के कारण उनकी मृत्यु हो गई। सुबोध के छोटे भाई शांख्य ने एक बयान में इस बात को स्वीकार किया।

पिछले शनिवार को रिपोर्ट निगेटिव आई थी
ई-टाइम्स से बातचीत में शंख्य ने कहा, ‘पिछले शनिवार को उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी। हालांकि, सोमवार यानी 10 मई को उनकी तबीयत बिगड़ गई। उनका ऑक्सीजन लेवल अचानक गिर गया। वह थका हुआ था और उसका रक्तचाप बहुत अधिक था। आज सुबह उनकी हालत बिगड़ गई और उन्हें मलाड के लाइफलाइन अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, कार्डियक अरेस्ट से उनकी मौत हो गई। ये सारी जटिलताएं कोविड मुक्त होने के बाद आईं।

हिंदी फिल्म निर्देशित करने की इच्छा अधूरी रह गई
शंख्य ने आगे कहा कि सुबोध एक हिंदी फिल्म का निर्देशन करना चाहते थे, लेकिन उनकी इच्छा अधूरी रह गई। उन्होंने मलयालम फिल्म ‘वसुधा’ का निर्देशन किया था। सुबोध और शंख्य एक-दूसरे के काफी करीब थे और साथ-साथ रहते थे।

'वसुधा' की निर्माता और मुख्य अभिनेत्री गीता नायर के साथ सुबोध चोपड़ा: फाइल फोटो

‘वसुधा’ की निर्माता और मुख्य अभिनेत्री गीता नायर के साथ सुबोध चोपड़ा: फाइल फोटो

1997 से काम कर रहे हैं
सुबोध चोपड़ा 1997 से मनोरंजन उद्योग में सक्रिय हैं। उन्होंने डीडी 1 के धारावाहिक ‘रिपोर्टर’ में एक स्क्रीन और संवाद लेखक के रूप में उद्योग में प्रवेश किया। इस सीरियल का निर्देशन विनोद पांडे ने किया था। सीरियल में शेखर सुमन, मोना अंबेगांवकर और राज किरण ने अहम भूमिका निभाई थी। सुबोध चोपड़ा ने कई विज्ञापनों का निर्देशन किया।

डॉक्यूमेंट्री बनाई ‘इमॉर्टल्स ऑफ कारगिल’
सुबोध की अन्य फिल्मों की बात करें तो उन्होंने ‘नजर’ के संवाद, ‘दोबारा’ की पटकथा, ‘तुमसा नहीं देखा’ की कहानी लिखी। उन्होंने ‘इमॉर्टल्स ऑफ कारगिल’ नामक एक वृत्तचित्र भी लिखा और निर्देशित किया। उन्होंने टीवी सीरियल ‘हकीकत’ का एक एपिसोड और ‘रिश्ते’ के छह एपिसोड भी लिखे। उन्होंने ‘सावधान इंडिया’ के कई एपिसोड का निर्देशन किया।

एक और खबर भी है…
Updated: May 14, 2021 — 12:53 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme