Local Job Box

Best Job And News Site

दो नई टीमों की टेंडर प्रक्रिया में लगे दो महीने | दो नई टीमों की टेंडर प्रक्रिया में लगे दो महीने

विज्ञापनों से परेशान हैं? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

मुंबई36 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • 2022 में टीमों की संख्या 8 से बढ़कर 10 . हो जाएगी
  • 14वें सीजन को पूरा करने पर बीसीसीआई का फोकस

कोरोना की दूसरी लहर ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को बुरी तरह प्रभावित किया है। 29 मैचों के बाद आईपीएल को स्थगित करना पड़ा। आईपीएल के अगले सीजन में दो नई टीमें शामिल होंगी। जिसके लिए इसी महीने टेंडर जारी होना था, लेकिन सूत्रों के मुताबिक अब इसे दो महीने के लिए टाल दिया गया है। बोर्ड का पूरा फोकस 14वें सीजन के बाकी बचे 31 मैचों को पूरा करने पर है.

बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा, ‘आईपीएल की नई टीमों के बारे में बात करने का यह सही समय नहीं है। आस्थगित मौसम योजना पर विचार किया जाना है। इसके बाद ही आईपीएल 2022 के लिए नई टीमों पर फैसला किया जा सकता है। फिलहाल इस मुद्दे पर बीसीसीआई में कोई चर्च नहीं है। अगर मौजूदा सीजन खत्म नहीं हुआ तो बोर्ड को 2,200 करोड़ रुपये से 2,500 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

बेस प्राइस 1,500 करोड़ रुपये रहने की संभावना है
नई टीमों का बेस प्राइस 1,500 करोड़ रुपये हो सकता है। 2008 में लीग की शुरुआत से पहले 8 टीमों के लिए टेंडर जारी किए गए थे। इसका बेस प्राइस 50 करोड़ था। उस समय डॉलर की कीमत 40 रुपये थी। यानी एक टीम का बेस प्राइस 200 करोड़ रुपए था। मुकेश अंबानी ने मुंबई फ्रेंचाइजी को सबसे ज्यादा 1 111.9 मिलियन में खरीदा। बोर्ड को राजस्थान के लिए सबसे कम 67.67 करोड़ मिले।

अहमदाबाद और लखनऊ की दौड़ में अग्रणी
आईपीएल में दो नई टीमों की दौड़ में अहमदाबाद और लखनऊ सबसे आगे हैं। दोनों ने शहर में नए स्टेडियम बनाए हैं। अहमदाबाद फ्रेंचाइजी को बिजनेसमैन गौतम अडानी खरीद सकते हैं। इसके अलावा पुणे, कोच्चि, रायपुर, त्रिवेंद्रम, इंदौर और गुवाहाटी भी दौड़ में शामिल हैं। दूसरी टीम संजीव गोयनका हो सकते हैं। वह राइजिंग पुणे जायंट्स के मालिक भी रह चुके हैं।

सीज़न में मैचों की संख्या 90 . से अधिक होगी
यदि टूर्नामेंट मौजूदा प्रारूप में जारी रहता है, तो दो नई टीमों के आने के बाद मैचों की संख्या 90 से अधिक हो जाएगी। लीग में फिलहाल 60 मैच खेले जा रहे हैं। जिससे टूर्नामेंट के आयोजन के लिए एक बड़ी खिड़की की भी जरूरत पड़ेगी। यह भी माना जा रहा है कि 10 टीमों के गठन से टूर्नामेंट का प्रारूप बदल सकता है। 2011 में, 10 टीमों ने केवल 14-14 मैच खेले और कुल 74 मैच खेले।

एक और खबर भी है…
Updated: May 17, 2021 — 11:06 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme