Local Job Box

Best Job And News Site

फेडरर के खेल ने लंबे समय बाद खेलने का असर दिखाया, वह फिट थे लेकिन अभ्यास की कमी थी, एक पसंदीदा फोरहैंड शॉट से भी चूक गए। | फेडरर के खेल ने लंबे समय के बाद खेलने का असर दिखाया, वह फिट थे लेकिन अभ्यास की कमी थी, यहां तक ​​कि एक पसंदीदा फोरहैंड शॉट से भी चूक गए।

  • गुजराती समाचार
  • खेल
  • फेडरर के खेल ने दिखाया लंबे समय बाद खेलने का असर, फिट थे लेकिन प्रैक्टिस में कमी, पसंदीदा फोरहैंड शॉट से भी चूके

विज्ञापनों से परेशान हैं? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

8 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • 11 मार्च के बाद वापसी कर रहे फेडरर ने गंवाया अपना पहला मैच, पूर्व कोच का विश्लेषण

11 मार्च के बाद अपना पहला मैच खेल रहे रोजर फेडरर फिट तो लग रहे थे लेकिन अभ्यास की कमी महसूस कर रहे थे। शीर्ष वरीयता प्राप्त फेडरर 75वीं रैंकिंग वाले पाब्लो एंडुजर से हार गए। सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात यह थी कि उन्होंने स्वीकार किया कि मैच में उनमें आत्मविश्वास की कमी है। इससे पहले जब फेडरर जेनेवा में खेले थे तब 80,000 दर्शक मौजूद थे। वह सितंबर 2019 में लेवर कप मैच था। लेकिन इस मैच में सिर्फ 100 दर्शक थे।

39 वर्षीय फेडरर लंबी अनुपस्थिति के बाद वापसी कर रहे थे। 11 मार्च के बाद यह उनका पहला टूर्नामेंट था और फरवरी 2020 के बाद यह उनका दूसरा टूर्नामेंट था। इसका असर यह हुआ कि वह ज्यादा शॉट नहीं खेल सके। स्पेनिश खिलाड़ी पहली बार फेडरर के खिलाफ खेल रहे थे।

अंडुजर पिछले 5 टूर्नामेंट में पहले दौर में 4 बार हारकर बाहर हो गए हैं। मैच के बाद फेडरर ने कहा कि वह जीत के हकदार हैं, क्योंकि वह मुझसे ज्यादा स्थिर थे और अच्छा खेल रहे थे।

4 साल पहले के हालात और मौजूदा हालात के बीच काफी दूरी : पूर्व कोच अन्नाकोन
फेडरर के पूर्व कोच पॉल एनाकॉन ने कहा, “मुझे लगता है कि 4 साल पहले और अब की स्थिति में बहुत अंतर है।” फेडरर उस समय 35 वर्ष के थे और अब 40 के करीब हैं। उन्होंने अंडुजर के खिलाफ मैच में अंतिम स्पेल के चौथे अंक में पूरी ताकत के साथ काम किया। हालांकि फेडरर ने शॉट को वापस करने के लिए अपने पसंदीदा फोरहैंड शॉट में अपनी पूरी ताकत लगा दी लेकिन गेंद नेट पर जा लगी। इसके बाद उन्होंने दो फोरहैंड शॉट भी गंवाए।

फेडरर ने मैच के बाद कहा, “मैं अपने शॉट को पूरी ताकत से हिट कर रहा था।” लेकिन दो सेट के बाद यह मुश्किल लग रहा था। यह मेरे आत्मविश्वास की कमी के कारण था। शीर्ष खिलाड़ी को भी आत्मविश्वास की जरूरत होती है।’ उन्होंने आगे कहा कि वह आत्मविश्वास हासिल करने के लिए और मेहनत करेंगे।

फेडरर का पूरा ध्यान अब जून में विंबलडन पर रहेगा
एक बात पक्की है कि फ्रेंच ओपन इसका मुख्य लक्ष्य नहीं है। इसका लक्ष्य विंबलडन है, जो 28 जून से ऑल इंग्लैंड क्लब के ग्रासी कोर्ट में शुरू हो रहा है। जहां उन्होंने 8 खिताब जीते हैं। “मुझे लगता है कि उनकी वापसी मुश्किल होगी,” कोच एनाकॉन कहते हैं। लेकिन फिर भी वह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं। लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या वह फिर से टॉप पर पहुंच पाते हैं।

एक और खबर भी है…
Updated: May 19, 2021 — 10:39 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme