Local Job Box

Best Job And News Site

जीएसटी परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री ने की घोषणा: काले कवक की दवा के आयात पर छूट 31 अक्टूबर तक बढ़ाई गई | जीएसटी परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री ने की घोषणा: काले कवक की दवा के आयात पर छूट 31 अक्टूबर तक बढ़ाई गई

  • गुजराती समाचार
  • व्यापार
  • जीएसटी परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री का ऐलान: ब्लैक फंगस ड्रग के आयात पर छूट 31 अक्टूबर तक बढ़ाई गई

विज्ञापनों से परेशान हैं? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

मुंबईकाकीएक घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

कोरोना महामारी की एक और घातक लहर के बीच शुक्रवार को जीएसटी परिषद की 43वीं बैठक संपन्न हुई। जिसमें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के वित्त मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में यह बैठक करीब सात महीने बाद हुई थी। पिछली बार परिषद की बैठक पिछले साल अक्टूबर में हुई थी।

केंद्रीय वित्त मंत्री ने बैठक में कहा, “जीएसटी परिषद की बैठक में हमने बहुत विस्तृत चर्चा की।” जिसमें कोविड राहत सामग्री के आयात पर छूट देने का निर्णय लिया गया। इस छूट को 31 अगस्त 2021 तक बढ़ाने का भी फैसला किया गया है। साथ ही ब्लैक फंगस दवा एटफोटेरिसिन बी के आयात पर छूट 31 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई है।

कोविड संबंधित उपकरणों पर टैक्स छूट
सीतारमण ने कहा कि कोविड से संबंधित उपकरणों पर भी चर्चा हुई। वित्त मंत्री ने कहा कि कोविड से जुड़ी राहत सामग्री पर टैक्स छूट और इसके आयात पर आईजीएसटी छूट को 31 अगस्त 2021 तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस वार्ता में की विशेष टिप्पणी….

  • छोटे करदाताओं यानि जिनका टर्नओवर 2 करोड़ रुपये से कम है, उनके लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए वार्षिक रिटर्न दाखिल करना वैकल्पिक होगा। जबकि 5 करोड़ रुपये या उससे अधिक के टर्नओवर वाले व्यापारियों को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए सुलह विवरण दाखिल करना होगा।
  • पिछले साल की तरह इस बार भी जीएसटी मुआवजे पर यही फॉर्मूला अपनाया जाएगा। संभव है कि केंद्र सरकार 1.58 लाख करोड़ रुपये अतिरिक्त उधार ले सके।
  • वार्षिक रिटर्न फाइलिंग को भी आसान बना दिया गया है। जिसके तहत सीजीएसटी एक्ट में बदलाव कर सुलह स्टेटमेंट को सेल्फ सर्टिफिकेशन के लिए अनुमति दी जाएगी।
  • सरकार ने दो वैक्सीन कंपनियों को अग्रिम भुगतान के रूप में 4,500 करोड़ रुपये दिए हैं। जापान और यूरोप में वैक्सीन कंपनियों और आपूर्तिकर्ताओं के साथ भी बातचीत चल रही है, जिससे आने वाले दिनों में टीकों की आपूर्ति बढ़ने की उम्मीद है।
  • करदाता अब लंबित रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। आप कम लेट फीस के साथ एमनेस्टी स्कीम का भी लाभ उठा सकते हैं। सरकार ने लेट फीस लेकर नई व्यवस्था की है। छोटे करदाताओं के लिए अधिकतम विलंब शुल्क कम किया, जो अगली कर अवधि से लागू होगा।छोटे करदाताओं को इसमें बड़ी राहत मिल सकती है।
  • परिषद ने उलटा शुल्क में कोई बदलाव नहीं किया है। इसे बरकरार रखा गया है।
  • बैठक में मंत्रियों का एक समूह बनाने का फैसला किया गया, जो 8 जून से पहले 10 दिनों के भीतर एक रिपोर्ट सौंपेगा, जो यह तय करेगा कि क्या दरों में और कटौती की जरूरत है। यह स्थिति के अनुसार खातों से काट लिया जाएगा।

राज्य ऑक्सीजन पर कर कम करने को तैयार नहीं था
बैठक से पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि सरकार मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, ऑक्सीजन कंस्ट्रिक्टर मशीन, पल्स ऑक्सीमीटर और कोविड टेस्टिंग किट पर टैक्स की दर 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर सकती है. लेकिन बीजेपी शासित राज्यों के कई वित्त मंत्री नहीं माने. दिल्ली सरकार के मंत्री मनीष सिसोदिया, पंजाब, बंगाल, केरल सहित कई राज्यों ने बैठक दरों को कम करने की सिफारिश की।

एक और खबर भी है…
Updated: May 28, 2021 — 7:37 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme