Local Job Box

Best Job And News Site

चीन में इंसानों में पाया गया H10N3 बर्ड फ्लू वायरस, दुनिया भर में पहला मामला | चीन में इंसानों में पाया गया H10N3 बर्ड फ्लू वायरस, दुनिया भर में पहला मामला

विज्ञापनों से परेशान हैं? विज्ञापनों के बिना समाचार पढ़ने के लिए दिव्य भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

२८ मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • चीन में एक व्यक्ति में H10N3 बर्ड फ्लू वायरस की पुष्टि हुई है
  • अब बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन का नया मामला आया

चीन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि देश के जिआंगसु क्षेत्र में एच10एन3 बर्ड फ्लू के मानव संचरण का पहला मामला सामने आया है। इसका मतलब है कि इंसानों में पहली बार H10N3 बर्ड फ्लू के संक्रमण का पता चला है। यह संक्रमण एक आदमी द्वारा महसूस किया जाता है।

41 वर्षीय व्यक्ति को हुआ बर्ड फ्लू
जिआंगसु क्षेत्र के झेजियांग शहर में एक 41 वर्षीय व्यक्ति को बर्ड फ्लू हो गया है। आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी एक बयान के अनुसार, माना जाता है कि मुर्गी पालन से बर्ड फ्लू फैला है और बड़े पैमाने पर इसके फैलने का खतरा बहुत कम है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि दुनिया में अब तक एच10एन3 बर्ड फ्लू के मानव संचरण का कोई मामला सामने नहीं आया है।

चीन में H10N3 बर्ड फ्लू के मानव संचरण का पहला मामला सामने आया है।

चीन में H10N3 बर्ड फ्लू के मानव संचरण का पहला मामला सामने आया है।

आयोग ने कहा कि व्यक्ति को 28 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उस व्यक्ति में बुखार और अन्य लक्षण देखे गए। एक महीने बाद, 28 मई को, व्यक्ति को H10N3 बर्ड फ्लू वायरस का पता चला। हालांकि, आयोग ने कहा कि वायरस अभी खतरे में नहीं है।

41 साल के एक व्यक्ति को बर्ड फ्लू हो गया है।

41 साल के एक व्यक्ति को बर्ड फ्लू हो गया है।

पीड़ित की हालत सामान्य है और उसे जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। उस व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को संक्रमण का अहसास नहीं हुआ। चीन में एवियन इन्फ्लूएंजा के कई प्रकार मौजूद हैं और उनमें से कुछ ने इंसानों को भी संक्रमित किया है।

1997 में H5N1 का पहला मामला सामने आया था
बर्ड फ्लू फैलने के लिए कई वायरस जिम्मेदार होते हैं, लेकिन H5N1 को खतरनाक माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह वायरस इंसानों में बर्ड फ्लू के वाहक का काम करता है और उन्हें इसका शिकार बनाता है। मनुष्यों में बर्ड फ्लू का पहला मामला 1997 में सामने आया था। फिर हांगकांग में एक मुर्गी द्वारा एक व्यक्ति को वायरस प्रेषित किया गया।

2003 के बाद से, बर्ड फ्लू वायरस चीन, यूरोप और अफ्रीका सहित कई एशियाई देशों में फैल गया है। 2013 में चीन में एक व्यक्ति बर्ड फ्लू से संक्रमित हो गया था। हालांकि, डब्ल्यूएचओ का दावा है कि बर्ड फ्लू सामान्य रूप से मनुष्यों को संक्रमित या प्रभावित नहीं कर सकता है। अब बर्ड फ्लू H10N3 स्ट्रेन का एक नया मामला सामने आया है।

एक और खबर भी है…
Updated: June 1, 2021 — 9:52 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme