Local Job Box

Best Job And News Site

ड्रग कंट्रोलर का कहना है कि गौतम गंभीर फाउंडेशन ने अवैध रूप से फैबीफ्लू की मात्रा जमा कर रखी है, बिना देर किए कार्रवाई की जाएगी. | ड्रग कंट्रोलर का कहना है कि गौतम गंभीर फाउंडेशन ने अवैध रूप से जमा की फैबीफ्लू दवा, बिना देर किए मुकदमा चलेगा

  • गुजराती समाचार
  • राष्ट्रीय
  • ड्रग कंट्रोलर का कहना है कि गौतम गंभीर फाउंडेशन ने अवैध रूप से बड़ी मात्रा में फैबीफ्लू जमा किया है, बिना देर किए कार्रवाई की जाएगी।

एक मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • इस तरह आम आदमी पार्टी के विधायकों ने भी खरीदा दवा-ऑक्सीजन सिलेंडर

पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर पर ड्रग जमाखोरी के मामले में तत्काल मुकदमा चलाया जाएगा. गौतम गंभीर फाउंडेशन द्वारा दिल्ली में कोरोना की दवा फैबीफ्लू बांटे जाने के मामले में ड्रग कंट्रोलर ने हाईकोर्ट को बताया था. ड्रग कंट्रोलर ने कहा कि फाउंडेशन ने अवैध रूप से फैबीफ्लू दवा का स्टॉक किया और फिर इसे मरीजों को वितरित किया। इस फाउंडेशन के खिलाफ अविलंब कार्रवाई की जाएगी।

गौतम गंभीर ने अप्रैल में ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके कार्यालय में मरीजों को फैबीफ्लू की दवा दी जाएगी। इन सभी मरीजों को आधार कार्ड और डॉक्टर के पर्चे अपने साथ लाने होंगे। गंभीर के अलावा आम आदमी पार्टी के विधायक प्रीति तोमर और प्रवीण कुमार ने भी कोरोना की दवा और सिलेंडर खरीदे। यह ऐसे समय में किया गया है जब पूरे देश में इन दवाओं की कमी थी। ड्रग कंट्रोलर ने मामले में आगे की जांच के आदेश दिए हैं।

गंभीर ने कहा- मैं आखिरी सांस तक दिल्ली की सेवा करूंगा
गौतम गंभीर ने कहा कि अभिनेता अक्षय कुमार ने उनके फाउंडेशन को 1 करोड़ रुपये का दान दिया था। इससे मैं कोरोना पॉजिटिव मरीजों की सेवा कर रहा था। मामला हाईकोर्ट पहुंचा तो कोर्ट ने 2 पहलुओं पर नाराजगी जताई। पहला गंभीर को क्लीन चिट देने के लिए और दूसरा उनके उस बयान के लिए जिसमें गंभीर ने कहा कि मैं इसे दूसरी बार करूंगा और आखिरी सांस तक बार-बार करूंगा।

दवा नियंत्रक ने फाउंडेशन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है
ड्रग कंट्रोलर ने जांच करने के बाद बताया कि गंभीर फाउंडेशन ने 2349 फैबीफ्लू की एक पट्टी खरीदी थी. इसके अलावा 120 ऑक्सीजन सिलेंडर भी खरीदे गए, जिन्हें सरकारी डीलरों ने भरा। मरीजों को मुफ्त दवाएं दी गईं।

गंभीर फाउंडेशन को तब एक नोटिस जारी किया गया था जिसमें पूछा गया था कि गंभीर ने दवा की मात्रा कहां से खरीदी थी और क्या उसने किसी अधिकृत निकाय की मंजूरी मांगी थी। ड्रग कंट्रोलर ने हाईकोर्ट को बताया कि ड्रग्स की ऐसी जमाखोरी के मामले में गंभीर फाउंडेशन के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

एक और खबर भी है…
Updated: June 3, 2021 — 10:32 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme