Local Job Box

Best Job And News Site

ईडी ने अभिनेता डिनो मोरिया, संजय खान और डीजे अकील की करोड़ों की संपत्ति जब्त की | ईडी ने अभिनेता डिनो मोरिया, संजय खान और डीजे अकील की करोड़ों की संपत्ति जब्त की

ग्यारह घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

अहमद पटेल के दामाद इरफान सिद्दीकी को संदेसरा बंधुओं ने रिश्वत दी थी। इसके बाद इरफान ने अब डिनो मोरिया पर मुकदमा चलाया।

  • तीनों के 14,500 करोड़ रुपये के बैंक ऋण घोटाले के आरोपियों और गुजरात के व्यापारी संदेसरा बंधुओं से संबंध थे।
  • डीनो मोरिया दिवंगत अहमद पटेल के दामाद हैं

महाराष्ट्र में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अभिनेता डिनो मोरिया, संजय खान और डीजे अकील की करोड़ों की संपत्ति जब्त की है। डीनो दिवंगत कांग्रेस नेता अहमद पटेल के दामाद भी हैं। महाविकास अघाड़ी सरकार के गठन के दौरान अहमद पटेल की भूमिका सक्रिय रूप से देखी गई थी। पिछले साल उनका निधन हो गया।

सूत्रों के मुताबिक यह कार्रवाई स्टर्लिंग बायोटेक बैंक धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में की गई है। तीनों के 14,500 करोड़ रुपये के बैंक ऋण घोटाले के आरोपियों और गुजरात के व्यवसायी संदेसरा बंधु के साथ संबंध थे। जांच में यह भी पता चला कि अहमद पटेल की संदेसरा बंधुओं से अच्छी जान-पहचान थी।

आरोप था कि अहमद पटेल के दामाद इरफान सिद्दीकी को संदेसरा बंधुओं ने बड़ी रिश्वत दी थी। इरफान के बाद अब डीनो के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है।

संदेसरा बंधुओं का स्वर्गीय अहमद पटेल के दामाद से रिश्ता
ईडी सूत्रों के मुताबिक, चेतन और नितिन संदेसरा अक्सर पटेल के दामाद इरफान के घर पैसों से भरा बैग लेकर जाते थे। चार-पाँच बार वह स्वयं उनके साथ था। एक बार में 15-25 लाख दिए गए। चेतन संदेसरा हमेशा अहमद पटेल के आधिकारिक आवास (23, मदर क्रिसेंट, नई दिल्ली) जाते थे और संदेसरा बंधु उन्हें कोडवर्ड में ‘मुख्यालय 23’ कहते थे। इरफान सिद्दीकी को संदेसरा भाई जे-2 और फजल पटेल को जे-1 कहा जाता था।

सीबीआई भी मामले की जांच कर रही है
ईडी ने अक्टूबर 2017 में सीबीआई द्वारा मामला दर्ज करने के बाद 14,500 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले की जांच भी शुरू की थी। जांच में खुलासा हुआ कि संदेसरा ने न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी भारतीय बैंकों को थप्पड़ मारे थे। संदेसरा की विदेशी स्थिति वाली कंपनियों ने भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं से करीब 9,000 करोड़ रुपये उधार लिए थे।

संदेसरा की कंपनी को ऋण को पांच बैंकों, आंध्रा बैंक, यूको बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, इलाहाबाद बैंक और बैंक ऑफ इंडिया के संयुक्त संघ द्वारा अनुमोदित किया गया था।

2019 में, ईडी ने 9,778 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 27 जून, 2019 को संदेसरा समूह की 9,778 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की। इनमें तेल क्षेत्र में ओएमएल 143 (नाइजीरिया), चार जहाज तुलजा भवानी, वरिंडा, भव्य, ब्राह्मणी शामिल हैं। जहाज को पनामा में अटलांटिक ब्लू वाटर सर्विसेज के नाम से पंजीकृत किया गया था।

इसके अलावा, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए एक पंजीकृत उड़ान और लंदन का एक फ्लैट भी जब्त किया गया था। नितिन और चेतन संदेसरा 2017 में मामला दर्ज होने के बाद से लापता हैं।

एक और खबर भी है…
Updated: July 3, 2021 — 7:48 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme