Local Job Box

Best Job And News Site

अहमदाबाद में आवास बिक्री वृद्धि मुंबई, पुणे, बैंगलोर से अधिक है; गोटा, न्यू रानिप, त्रगड, मोटेरा क्षेत्र पसंदीदा हैं | घरेलू खरीद के मामले में अहमदाबाद की वृद्धि मुंबई, पुणे और बैंगलोर से भी अधिक है; गोटा, न्यू रानिप, त्रगड, मोटेरा क्षेत्र के पसंदीदा क्षेत्र

  • गुजराती समाचार
  • डीवीबी मूल
  • अहमदाबाद में हाउसिंग सेल्स ग्रोथ मुंबई, पुणे, बैंगलोर से अधिक है; गोटा, न्यू रानिप, त्रगड, मोटेरा क्षेत्र हॉट फेवरेट हैं

अहमदाबाद15 मिनट पहलेलेखक: विमुक्ता दवे

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • अहमदाबाद में अप्रैल-जून में घरों की बिक्री में 362% की वृद्धि देखी गई
  • जनवरी-जून के बीच अहमदाबाद में 6226 इकाइयों की परियोजनाओं का शुभारंभ किया गया

कोरोना की दूसरी लहर घातक थी और अर्थव्यवस्था भी धीमी। हालांकि, रियल एस्टेट बाजार पिछले साल की तुलना में काफी बेहतर हुआ है। संपत्ति सलाहकार नाइट फ्रैंक इंडिया ने भारत के प्रमुख शहरों में अचल संपत्ति बाजार पर अर्धवार्षिक (H1) रिपोर्ट तैयार की है। रिपोर्ट के मुताबिक, अहमदाबाद में घरों की बिक्री अप्रैल-जून 2021 के दौरान 362% बढ़ी है, जबकि वह कोरोना के चरम पर थी। यह वृद्धि मुंबई, पुणे, बैंगलोर जैसे बड़े शहरों की तुलना में काफी अधिक है। जनवरी-जून के दौरान अहमदाबाद में हाउसिंग सेल्स ग्रोथ 67 फीसदी रही।

अचल कीमतों ने अचल संपत्ति बाजार का समर्थन किया
नाइट फ्रैंक में शोध के उपाध्यक्ष यशविन बंगेरा ने कहा कि इस साल जनवरी और मार्च के बीच घरेलू बिक्री में काफी सुधार हुआ है। लेकिन अप्रैल में कोरोना की दूसरी लहर ने विकास को प्रभावित किया। हालांकि, पिछले एक साल में कीमत में रुपये की बढ़ोतरी हुई है। 2800 के आसपास स्थिर रहना और जून तक स्थिति में काफी सुधार हुआ जिससे पिछले साल की तुलना में बिक्री के आंकड़े काफी बेहतर हो गए। अप्रैल-जून 2020 के दौरान अहमदाबाद में केवल 252 घर बिके। इसके मुकाबले इस साल दूसरी लहर के दौरान 1163 घर बिके हैं। छमाही आधार पर, इस साल 4,209 घर बेचे गए हैं, जबकि पिछले साल एच1 में 2,520 घर बेचे गए थे।

उत्तरी अहमदाबाद की ओर क्षेत्रों पर चयन बढ़ा
अब तक, अहमदाबाद के पश्चिमी हिस्से में बोपल, थलतेज, प्रह्लाद नगर, एसजी हाईवे और साइंस सिटी रोड पर लोग घर खरीदना पसंद करते थे। लेकिन पिछले एक साल में इस ट्रेंड में बदलाव देखने को मिला है। जो लोग घर खरीदना चाहते हैं, वे अब उत्तरी अहमदाबाद के मोटेरा, चांदखेड़ा, गोटा, न्यू रानिप और त्रागड जैसे इलाकों में घर खरीदना पसंद कर रहे हैं। जनवरी-जून के दौरान अहमदाबाद में बिकने वाले घरों में सबसे ज्यादा बिक्री उत्तरी अहमदाबाद में हुई।

अफोर्डेबल सेगमेंट की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा
नाइट फ्रैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार, अहमदाबाद में किफायती सेगमेंट में बेचे गए कुल घरों की कीमत रु। 50 लाख रुपये तक के घरेलू शेयर सबसे ज्यादा रहे हैं। कुल बिक्री में इसकी हिस्सेदारी लगभग 70% है। इसके अलावा रु. 50 लाख से 1 करोड़ घरेलू शेयर 22% और प्रीमियम सेगमेंट यानी रु। 1 करोड़ रुपये से अधिक के घरों के शेयरों में लगभग 8% हिस्सेदारी है। पिछले साल भी ऐसा ही ट्रेंड देखने को मिला था।

हल्के लॉकडाउन ने नई परियोजनाओं को जन्म दिया
नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा कि गुजरात सहित राज्यों में तालाबंदी के नियम पहली की तुलना में दूसरी लहर में हल्के रहे हैं। साथ ही कई जगहों पर माइल्ड लॉकडाउन लागू किया गया। इसका रियल एस्टेट कारोबार पर बहुत कम असर पड़ा। कारीगरों की कमी भी पहले के स्तर तक कम हो गई जिससे बिल्डरों और डेवलपर्स के लिए नई परियोजनाएं शुरू करना आसान हो गया। गुजरात के आंकड़ों पर नजर डालें तो जनवरी-जून 2020 की तुलना में 2021 में नई परियोजनाओं के शुभारंभ में 137% की वृद्धि हुई है। राज्य ने पिछले साल 2627 इकाइयों के मुकाबले इस साल 6226 इकाइयां लॉन्च की हैं।

एक और खबर भी है…
Updated: July 19, 2021 — 6:44 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme