Local Job Box

Best Job And News Site

बिल्डर्स और डेवलपर्स ने अप्रैल-जून 2021 के दौरान गुजरात में 13500 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया | तीन महीने में गुजरात में 501 परियोजनाओं में रु. 13,500 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया गया, रु। 6,285 करोड़ रुपये के साथ अहमदाबाद अव्वल

अहमदाबाद26 मिनट पहलेलेखक: विमुक्ता दवे

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • अप्रैल के बाद बिल्डरों ने रुपये जुटाए। 4444 करोड़ रुपये की आवासीय परियोजनाएं शुरू की
  • कोरोना के आने के बाद लोग छोटे घर से बड़े घर में जा रहे हैं

गुजरात का रियल एस्टेट बाजार अब ठीक होता दिख रहा है। गुजरात रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (रेरा) की वेबसाइट में उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2021-22 के आखिरी तीन महीनों में बिल्डरों और डेवलपर्स ने रु. 13508 करोड़ आवासीय और वाणिज्यिक परियोजनाएं शुरू की गई हैं। अप्रैल-जून के दौरान शुरू की गई कुल परियोजनाओं में से रु. अकेले अहमदाबाद में 6285 करोड़ परियोजनाएं शुरू की गई हैं। रियल एस्टेट से जुड़े लोगों के मुताबिक कोविड के बाद लोगों की मानसिकता बदली है. जो लोग एक छोटे से घर में रहते थे वे अब एक बड़े घर में जा रहे हैं और इस वजह से डेवलपर्स एक नए उद्यम में जाने का जोखिम उठा रहे हैं।

कोरोना ने बदल दी लोगों की सोच
अहमदाबाद के एराइज ग्रुप के वर्षा पटेल ने रियल एस्टेट में निवेश के बारे में दिव्या भास्कर को बताया कि कोरोना के आने के बाद से आवास की मांग बढ़ी है। 1 बीएचके में रहने वाले लोगों की मानसिकता बदलकर अब 2 बीएचके में शिफ्ट हो रहे हैं। यदि सैर के लिए नहीं जा रहे हैं तो उच्च सुविधाओं वाली परियोजनाओं के लिए जा रहे हैं। इसके अलावा वे अपर मिडिल क्लास फ्लैट से बंगले या फार्म हाउस कॉन्सेप्ट में शिफ्ट हो गए हैं। इस बदलाव के कारण बिल्डर्स नई परियोजनाओं को शुरू करने का उपक्रम कर रहे हैं। इसके अलावा पिछले साल की तुलना में अब आवासों की मांग बेहतर है, इसलिए रियल एस्टेट क्षेत्र में निवेश आ रहा है।

एक उच्च मध्यम वर्ग के फ्लैट से बंगला लेने का विकल्प चुनना।

एक उच्च मध्यम वर्ग के फ्लैट से बंगला लेने का विकल्प चुनना।

अहमदाबाद में कुल निवेश का 47% हिस्सा था
जैसा कि गुजरात रेरा की वेबसाइट में दिखाया गया है, वित्तीय वर्ष 2021-22 में अप्रैल से अब तक रु. 13,508 करोड़ परियोजनाएं शुरू की गई हैं। इसमें से रु. अहमदाबाद में 6285 करोड़ की परियोजनाएं शुरू की गई हैं। इसके अलावा वडोदरा की कीमत रु. 2500 करोड़, सूरत रु। 1711 करोड़ रु. 1135 करोड़ की परियोजनाएं शुरू की गई हैं। राज्य में रु. आवासीय के लिए 4,444 करोड़ और रु। 6,919 करोड़ मिश्रित (आवासीय और वाणिज्यिक संयुक्त) परियोजनाएं शुरू की गईं। वाणिज्यिक में रु. 1962 करोड़ का निवेश किया गया था।

पुराने अहमदाबाद से गांधीनगर जा रहे हैं लोग
गांधीनगर नक्षत्र समूह के उत्पल पटेल ने कहा कि अहमदाबाद के शाहीबाग, मणिनगर जैसे पुराने क्षेत्रों में रहने वाले लोग अब गांधीनगर आ रहे हैं और इसके चलते गांधीनगर क्षेत्र में कई नई परियोजनाएं शुरू की गई हैं. इसके अलावा इन्फोसिटी और गिफ्ट सिटी में आईटी इंडस्ट्री में काम करने वाले लोग सरगसन, रायसन के आसपास के इलाकों में मकान खरीद रहे हैं। PDPU, GNLU के साथ-साथ IIT, गांधीनगर होने के नाते उच्च शिक्षा का केंद्र बन गया है। गांधीनगर में टाउन प्लानिंग के तहत कई नई जमीनें खोली गई हैं, इसलिए वहां नई परियोजनाएं आ रही हैं। आज भी गांधीनगर अहमदाबाद से भी शांत है और इसीलिए लोग यहां रहना पसंद कर रहे हैं। इससे गांधीनगर में नई परियोजनाएं शुरू हुई हैं।

गांधीनगर में लग्जरी फ्लैट्स की डिमांड बढ़ी है।

गांधीनगर में लग्जरी फ्लैट्स की डिमांड बढ़ी है।

एक और खबर भी है…
Updated: July 21, 2021 — 2:56 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Local Job Box © 2021 Frontier Theme